सीबीआइ ने की लालू यादव की आवभगत, खिलाया भात, दाल और चोखा

पटना। रेलवे टेंडर घोटाला मामले में कल राजद अध्यक्ष लालू यादव से सीबीआइ ने सात घंटे तक पूछताछ की। पूछताछ के दौरान लालू ने सीबीआइ से पूछे गए प्रश्नों का जवाब दिया। वहीं उनके साथ उनकी बड़ी बेटी मीसा भारती भी सीबीआइ मुख्यालय पहुंची थीं, लेकिन पूछताछ के दौरान लॉबी में बैठी रहीं।

इधर सीबीआइ की पूछताछ के ब्रेक में लालू ने जमकर चावल, दाल और आलू चोखा खाया। लालू की फरमाइश पर सीबीआइ ने उनके लिए सिंपल बिहारी खाना सीबीआइ की कैंटीन में बनवाया था।

सीबीआइ के एक अफसर ने एक न्यूज चैनल को बताया कि “लालू यादव की तबियत को ध्यान में रखते हुए और उनकी मेडिकल हिस्ट्री है, इसीलिए उन्होंने कहा कि वे “कम मसाले” का खाना खाते हैं। तो उसी तरह का लंच हमने उन्हें दिया।”

आरजेडी प्रमुख को सीबीआइ की कैंटीन से तीन बार चाय भी सर्व की गई। उनसे पूछताछ सीबीआइ बिल्डिंग के तीसरे माले पर स्थिति ईओडब्लू के दफ़्तर में हुई। सात घंटे चली पूछताछ के बाद भी लालू यादव के चेहरे पर शिकन नहीं दिखी। सीबीआइ के अफसर भी पूरे सम्मान के साथ उन्हें बाहर तक छोड़ने आए। मेज़बानी में सीबीआइ ने कोई कसर नहीं छोड़ी। उनकी मर्सिडीज़ कैंपस के बिल्कुल भीतर तक आई।

लालू यादव, यह बताते हुए कि उन पर आरोप राजनीतिक वजहों से लगाए गए हैं, सहज और बेफिक्र नजर आए।लालू यादव ने अपनी पूछताछ के बाद रिपोर्टरों से कहा “मैंने रेल मंत्रालय में कई बदलाव किए लेकिन इन लोगों ने हमको ही आरोपी बना दिया।”

सीबीआइ की मेज़बानी से लालू बहुत संतुष्ट दिखे। उन्होंने कहा “सीबीआइ का व्यवहार बहुत अच्छा था मुझे किसी से कोई शिकायत नहीं है। वे भी अपना काम कर रहे हैं।” उनकी भी मजबूरी है, वो भी क्या करें?

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *